एक दो नहीं, बल्कि 5 तरह की होती हैं SIP, आइए जानते हैं ये कैसे करती हैं काम

 Join WhatsApp Channel
 Join Telegram Channel

एक दो नहीं, बल्कि 5 तरह की होती हैं SIP, आइए जानते हैं ये कैसे करती हैं काम:- कोई भी व्यक्ति निवेश की बात करते हो तो उने SIP में निवेश करने के सुझाव की सलाह देते हुए सुना है SIP का पूरा नाम Systematic Investment Plan ( सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान ) है | इसमें आप हर महीने एक सीमित राशी को म्यूचुअल फंड निवेश कर सकते हो और कम निवेश के साथ ज्यादा मुनाफा कमा सकते हो | SIP भी कई तरह की होती है हालाँकि यह बात कम लोग ही जानते है आज हम इस आर्टिकल में SIP की पूरी जानकारी देने वाले है और किस प्रकार SIP काम करती है यह जानने के लिए आप हमारे साथ इस आर्टिकल में अंत जुड़े रहिये |

आइए जानते हैं कितनी तरह की होती है एसआईपी और कैसे करती है काम

1. रेगुलर एसआईपी

SIP में सबसे पहले होती है रेगुलर एसआईपी जिसमे आप अपने द्वारा तय की गई राशी को हर महीने निवेश कर सकते हो इसे आप 3 महीनो और 6 महीनो के आधार पर निवेश किया जा सकता है और निवेश करने की तारिक को खुद तय कर सकते हो |

2. स्टेप-अप एसआईपी

दुसरे नंबर पर आती है स्टेप-अप एसआईपी इसमें आपको एक तय अवधि में SIP को बढ़ाने का मोका दिया जाता है जिसमे आप सालाना के आधार पर SIP की स्कम को बढ़ा सकते हो हम आपको उदाहरण के तौर पर समझाते है मान लीजिये आप हर महीने 10000 रूपए SIP में निवेश करते हो इसके तहत आप उसे हर साल 5 से 10 फीसदी अपने अनुसार बढ़ा सकते हो  इस वजह से आपके निवेश में बढ़ोतरी दिखाई देगी |

Also Read

3. फ्लेक्सिबल एसआईपी

अब आपको हम फ्लेक्सिबल एसआईपी के बारे में बताने वाले है इसमें आप अपने SIP की स्कम को बढ़ा या घटा सकते हो अगर आप ऐसा कुछ करते हो तो अपने फण्ड हाउस को SIP कटने की तारीख से एक हफ्ते पहले बताना होगा |

4. ट्रिगर एसआईपी

यह एसआईपी दिलचस्प है इसमें आप पैसे, समय और वैल्यूएशन के आधार पर तय कर सकते है | SIP ट्रिगर होने से पहले आप अपनी कंडीशन लगा सकते हो जैसे अगर कीमत के आधार पर बात करें तो आप कंडीशन लगा सकते हैं कि जब एनएवी 1000 रुपये से अधिक हो जाए तो ट्रिगर एसआईपी शुरू हो जाए और वहीं आप ये भी तय कर सकते हैं कि अगर एनएवी 1000 रुपये से कम हो जाए तो आपके कुछ अतिरिक्त पैसे एसआईपी में लगने लगें इसी तरह से समय और वैल्युएशन के आधार पर भी ट्रिगर एसआईपी को प्लान किया जा सकता है |

5. इंश्योरेंस के साथ एसआईपी

इस इंश्योरेंस एसआईपी में निवेश करने पर आपको टर्म इंश्योरेंस कवर मिलता है यह आलग अलग फंड हाउस में अलग अलग तरीके की होती है इसके तहत पहली एसआईपी के अमाउंट का 10 गुना तक इंश्योरेंस कवर देते हैं, जो बाद में बढ़ता जाता है. यह फीचर सिर्फ इक्विटी म्यूचुअल फंड्स में मिलता है |

Leave a Comment

देख लो सही जगह पैसा जमा करने का जादू , 1000 के बन गए 5.32 लाख रुपए देख लो सही