राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना से करे विदेश में पढाई

राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना से करे विदेश में पढाई:-हेल्लो दोस्तों आज हम आपको राजस्थान सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना के बारे में जानकारी देने वाले है इस योजना के तहत प्रदेश के छात्रो को स्कालरशिप प्रदान की जाती है जानकारी के लिए बता दे कि ये कोई साधारण स्कालरशिप नही है इस योजना का लाभ उन्ही छात्रो को दिया जाता है जो उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए बाहर विदेश में जाते है जो छात्र विदेश में MBBS या BTech व उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए जाते है उन्ही को इस योजना का लाभ दिया जाता है इसके लिए सरकार के द्वारा निर्धारित योग्यता तय की गई है जिसके बारे में हम आगे बताने वाले है यदि आप राजस्थान के निवासी है और पढाई करने के लिए विदेश जाना चाहते है और आपके पास पर्याप्त रुपये नही है तो इस योजना का लाभ लेकर विदेश में आसानी से अपनी पढाई को निरंतर जारी कर सकते है इसके लिए आपको हमारे साथ अंत तक जुड़े रहना होगा

राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना

इसी के साथ दोस्तों राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना राजस्थान सरकार की छात्रो के हित के लिए सबसे बड़ी योजना है राजस्थान के छात्र 150 देशों में अध्ययन हेतु छात्रवृत्ति प्राप्त कर सकते हैं और आज भी ऐसे छात्र है जो इस योजना का लाभ ले रहे है और विदेश में पढाई कर रहे है प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 20 अक्टूबर 2021 को इस योजना को शुरू किया गया था ऐसे छात्र जिनके परिवार की वार्षिक आय 8 लाख रुपये से कम है इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है लेकिन नए संशोधन में सरकार के द्वारा 8 लाख रुपये से बढाकर 25 लाख रुपये तक कर दिए गए है अब ऐसे छात्र जिनकी पारिवारिक आय 25 लाख रुपये तक है वे विद्यार्थी विदेश पढ़ाई हेतु छात्रवृत्ति प्राप्त कर सकते है आइये जाने राजीव गांधी स्कॉलरशिप योजना की पात्रता और योजना से जुडी विभिन्न जानकारी के बारे में

हर वर्ष 200 मेधावी छात्रो को दी जाती है स्कालरशिप

राजस्थान सरकार के द्वारा 20 अक्टूबर 2021 को शुरू की गई इस योजना से आज काफी छात्र लाभानिव्त हुए है इस योजना में आर्थिक रूप से पिछड़े परिवार और गरीब परिवार के छात्रो को प्राथमिकता दी जाएगी एक जानकारी के लिए बता दे कि अब 25 लाख वार्षिक आय वाले परिवार के बच्चे भी सरकारी खर्चे पर पढ़ाई कर सकते हैं योजना के तहत 200 मेधावी छात्रों को हर वर्ष विदेश अध्ययन हेतु छात्रवृत्ति उपलब्ध करवाई जाती है योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले छात्र को योजना से जुडी जानकारी होनी चाइये और इस योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक के पास योजना विभाग द्वारा निर्धारित योग्यता होनी चाइये साथ ही आवेदन के दौरान आपके पास जरुरी दस्तावेज होने चाइये दस्तावेजो के अभाव में आपके आवेदन पत्र को निरस्त कर दिया जायेगा

राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना पात्रता

  • ऐसे छात्र जो स्नातक स्तर या स्नातकोत्तर स्तर व पीएचडी और पोस्ट डॉक्टोरल अनुसंधान की पढाई हेतु विदेश में अध्ययन करने के लिए जाना चाहते है
  • स्नातक स्तर के पाठ्यकमों के लिए केवल वे ही छात्र जो Humanities से संबंधित विषय में पढाई करना चाहता है
  • आवेदक राजस्थान राज्य का स्थाई मूल निवास होना चाइये
  • आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 8 लाख से कम होना चाहिए
  • सरकार के द्वारा सूचीबद्ध 50 निर्धारित विश्वविद्यालयों व संस्थानों में से छात्र किसी भी विश्वविद्यालय व संस्थान में प्रवेश प्राप्त कर सकता है
  • इसके आलावा राजीव गांधी की स्कॉलरशिप माता पिता की केवल एक ही संतान को योजना लाभ दिया जायेगा

Read Also

Conclusion:- दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना से करे विदेश में पढाई के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। इसलिए हम उम्मीद करते हैं, कि आपको आज का यह आर्टिकल आवश्यक पसंद आया होगा, और आज के इस आर्टिकल से आपको अवश्य कुछ मदद मिली होगी। इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top