इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना में गर्भवती महिलाओं को मिलती है 6 हजार रुपये तक की आर्थिक सहायता

 Join WhatsApp Channel
 Join Telegram Channel

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना में गर्भवती महिलाओं को मिलती है 6 हजार रुपये तक की आर्थिक सहायता:-हेल्लो दोस्तों आज हम आपको स्व. इंदिरा गांधी की जयंती पर शुरू की गई इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के बारे में बताने वाले है राजस्थान सरकार के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा दिनांक 19 नवंबर, 2020 को इस योजना को शुरू किया गया है इस योजना का लाभ प्रदेश की गर्भवती महिलाओं को बच्चे के जन्म के समय और बच्चों को उचित पोषण उपलब्ध करवाने के लिए सरकार के द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है इस योजना का खास प्रदेश की महिलाओ के लिए है और आज इस योजना का लाभ काफी महिलाए ले रही है वैसे आपको जानकारी होगी कि राजस्थान सरकार के द्वारा बहुत सी योजनाए संचालित है सरकार का मुख्य उद्देश्य सरकारी योजनाओ का उन लोगो को लाभ दिलाना है जो आर्थिक रूप से पिछड़े परिवार से है या गरीब परिवार से सम्बन्ध रखते है आइये जाने इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के बारे में सम्पूर्ण जानकारी के साथ I

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना

इसी के साथ दोस्तों इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना को शुरू करके महिला सशक्तीकरण की दिशा में उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम है इस योजना का मुख्य उद्देश्य हमने आपको पहले ही बता दिया था कि राज्य की गर्भवती महिलाओं और माताओं एवं बच्चे को उचित पोषण उपलब्ध करवाकर उन्हें आर्थिक सहयोग प्रदान करना है आपको जानकारी के लिए बता दे कि इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना का संचालन महिला एवं बाल विकास विभाग के द्वारा किया जा रहा है इस योजना से राज्य की गर्भवती महिलाओं एवं स्तनपान कराने वाली माताओं को लाभ के साथ तीन वर्ष तक के बच्चों के स्वास्थ एवं पोषण की स्थिति में सुधार लाया जा सके इसके लिए सरकार के द्वारा इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना का संचालन किया जा रहा है

इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना में इस तरह मिलेंगे 6 हजार रुपये

  • इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना में लाभार्थी महिलाओं को पांच चरणों में 6 हजार रुपए की राशि लाभार्थी के सीधे बैंक खाते में जमा होती है
  • इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के तहत लाभार्थी महिला को पहली किस्त में 1000 रुपए की आर्थिक सहायता गर्भावस्था जांच व पंजीकरण होने पर दी जाती है
  • दूसरी क़िस्त 1000 रुपए कम से कम गर्भवती की दो प्रसव पूर्व जांचें पूरी होने पर दी जाती है
  • तीसरी क़िस्त 1000 रुपए संस्थागत प्रसव होने पर दिया जाता है
  • चौथी क़िस्त बच्चे के जन्म के 105वें दिन तक सभी नियमित टीके लगने तथा बच्चे का जन्म पंजीकरण होने पर 2000 रुपए की आर्थिक सहायता दी जाती है
  • पांचवी एवं अंतिम क़िस्त 1000 रुपए दंपती की दूसरी संतान पैदा होने के तीन माह के अन्दर दिए जाते है

नोट : इस तरह दोस्तों इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना के तहत काफी महिलाओ को लाभ मिलेगा इस योजना पर राशि पूरी तरह से राज्य सरकार के द्वारा खर्च किया जा रहा है इस योजना पर सरकार के द्वारा हर साल करोडो रूपये खर्च कर रही है यदि आपके कोई जानकर महिला लाभार्थी है तो आप इस पोस्ट को जरुर शेयर करे

Read Also

Conclusion:- दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हमने इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना में गर्भवती महिलाओं को मिलती है 6 हजार रुपये तक की आर्थिक सहायता के बारे में विस्तार से जानकारी दी है। इसलिए हम उम्मीद करते हैं, कि आपको आज का यह आर्टिकल आवश्यक पसंद आया होगा, और आज के इस आर्टिकल से आपको अवश्य कुछ मदद मिली होगी। इस आर्टिकल के बारे में आपकी कोई भी राय है, तो आप हमें नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Leave a Comment

देख लो सही जगह पैसा जमा करने का जादू , 1000 के बन गए 5.32 लाख रुपए देख लो सही