महंगाई से मिलेगी राहत! सरकार ने लॉन्च किया सस्ता ‘भारत चावल’, जानें- कहां से खरीद सकेंगे

 Join WhatsApp Channel
 Join Telegram Channel

महंगाई से मिलेगी राहत! सरकार ने लॉन्च किया सस्ता ‘भारत चावल’, जानें- कहां से खरीद सकेंगे:- हेल्लो दोस्तों सरकार द्वारा महगाई से राहत दिलाने के लिए बीते एक वर्ष में चावल की 15% बढ़ती कीमतों को ध्यान में रखते हुए ग्राहकों को राहत देने के लिए मंगलवार को 29 रूपए प्रति किलोग्राम की दर से ” भारत चावल ” को लाँच किया है खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने 5 किलो और 10 किलो के पैक में उपलब्ध सब्सिडी वाले चावल को बाजार में पेश करते हुए कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करने का प्रयास कर रही है कि आम लोगों के लिए दैनिक खाद्य पदार्थ सस्ती दरों पर उपलब्ध हों जिससे उने किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नही करना पड़े केवल 29 रूपए किलो चावल गरीबो को उपलब्ध कराया जायेगा |

सरकार द्वारा उमीद जताई जा रही है की जेसे ” भारत आटा ” का शानदार फीडबैक मिला है उसी तरह सरकार की उमीद ” भारत चावल ” पर है ऊनि एजेंसी पर 27.50 किलोग्राम ” भारत आटा ” और 60 रूपए किलोग्राम ” भारत चन्ना ” गरीबो को बेचा जा रहा है |

गोयल ने कहा, ‘‘जब थोक संलिप्तता से अधिक लोगों को लाभ नहीं मिल रहा था, तो मूल्य स्थिरीकरण कोष (पीएसएफ) के तहत खुदरा संलिप्तता शुरू किया गया था’ उन्होंने कहा कि खुदरा संलिप्तता के हिस्से के रूप में, मध्यम वर्ग के उपभोक्ताओं और गरीबों को राहत देने के लिए चावल को ‘भारत ब्रांड’ के तहत 29 रुपये प्रति किलोग्राम पर बेचा जाएगा जिससे सीधा लाभ गरीबो को होगा ” भारत चावल ” के एक किलो में 5% टुटा चावल मिलेगा |

” भारत आटा ” बाजार में शुरू होने के बाद बीते 6 महीनो में गेहू की वृद्धि सुन्य रही है सरकार के अनुसार यह बाजार ” भारत चावल ” में देखने को मिलेगा उन्होंने इस बात पर ध्यान दिया है की गरीब परिवार के थाली में जाने वाली वस्तु की कीमत में कोई बदलाव नही आया है सरकार रोज काम आने वाली चीजो को कम कीमत में उपलब्ध करवाने के प्रयास में है |

सरकार ने 100 मोबाइल वैन को भी हरी झंडी दिखाई जो ‘भारत चावल’ बेचेंगी और सरकार द्वारा लाँच करने के बाद पांच लाभार्थियों को पांच किलो के चावल पैक भी वितरित किए गये भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) प्रथम चरण में दो सहकारी समितियों – नेशनल एग्रीकल्चरल कोऑपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (नाफेड) और नेशनल कोऑपरेटिव कंज्यूमर फेडरेशन ऑफ इंडिया (एनसीसीएफ) के साथ-साथ खुदरा श्रृंखला- केंद्रीय भंडार को पांच लाख टन चावल प्रदान करेगा ये एजेंसियां चावल को 5 किलो और 10 किलो के थेली में पैक करेंगी और ‘भारत’ ब्रांड के तहत अपने बिक्रीकेन्द्र के माध्यम से खुदरा बिक्री करेंगी. चावल को ई-कॉमर्स मंच के जरिये भी बेचा जाएगा सरकार द्वारा अनेक सुविधा उपलब्ध करवाई है |

हम आशा करते है की गरीब और मध्यम वर्ग के परिवारजनों को सरकार द्वारा लाँच की गई यह पदार्थ योजना से उनके खाने वाले पदार्थ में भाव की कमी देखाई दे और वे इसे वाजिप दाम में आसनी से खरीद सके और उने किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नही करना पड़े और वे अपना रोज का भोजन कर सके | सरकार की इस सोच से गरीबो को व्यपारी द्वारा लुटा नही जायेगा गरीब कम कीमत में आटा, चावल, दाल आदि को खरीद सकेगा |

गोयल ने अपने व्यक्तिगत अनुभव को शेयर करते हुए कहाँ की मैंने ” भारत आटा ” और ” भारत डाल ” का उपयोग करना चालू कर दिया है यह दोनों पदार्थ स्वादिष्ट हैं अब मैंने ” भारत चावल ” को खरीदा है मेरे अनुसार यह पदार्थ शानदार और स्वादिष्ट होने वाला है यह पूछे जाने पर कि क्या चावल की औसत कीमत के संबंध में सटीक विश्लेषण किया गया है क्योंकि बाजार में कई किस्में हैं, यह एक सक्रिय सरकार है.” निर्यात पर प्रतिबंध और वर्ष 2023-24 में बंपर उत्पादन के बावजूद चावल की खुदरा कीमतें अभी भी नियंत्रण में नहीं हैं यह गोयल का कहना है |

1. ” भारत चावल ” का उद्देश्य क्या है ?

Ans:- इसका उद्देश्य विशेष रूप से समाज के गरीब और मध्यम वर्गों को कम कीमत की दर पर चावल उपलब्ध कराना है |

2. ” भारत चावल ” को कहाँ से खरीदे ?

Ans:- ‘भारत’ चावल को आप नेफेड और एनसीसीएफ के सभी भौतिक और मोबाइल आउटलेट्स से खरीद सकते है |

3. ” भारत चावल ” क्या है ? 

Ans:- ‘भारत चावल’ नेफेड, एनसीसीएफ और केंद्रीय भंडार के आउटलेट्स और मोबाईल वैन्स के जरिए पूरे देश में बेचा जा रहा है. यह पांच किलोग्राम और दस किलोग्राम के पैकेट में उपलब्ध है, गरीबो को महंगाई से मिलेगी राहत !

Leave a Comment

देख लो सही जगह पैसा जमा करने का जादू , 1000 के बन गए 5.32 लाख रुपए देख लो सही